• न्यूज की न्यूज डेस्क.

एंबुलेंस के लिए करते रहे फोन, नहीं आई तो रास्ते में ही हो गई डिलीवरी, जानिए फिर क्या हुआ?

एंबुलेंस न मिलने से हरियाणा में फिर से एक महिला की सड़क पर ही डिलीवरी हो गई। गर्भवती को पैदल ही लेकर चल पड़ी सास। 100 मीटर पहले बच्ची को जन्म भी हो गया। लेकिन इसके बाद भी अस्पताल कर्मचारियों की लापरवाही जारी रही।

हरियाणा के कनीना कस्बे में बुधवार को वार्ड-8 निवासी महिला सुषमा को प्रसव पीड़ा शुरू हुई तो परिजन एंबुलेंस सेवा के लिए फोन करते रहे, लेकिन किसी भी कर्मचारी व अधिकारी ने फोन नहीं उठाया। इसके बाद महिला की सास उसे पैदल ही अस्पताल के लिए लेकर घर से निकल पड़ी। अस्पताल से केवल 100 मीटर की दूरी पर महिला ने नवजात कन्या को जन्म दिया। इसके बाद भी ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। महिला को वहां भी स्ट्रेचर की सुविधा नहीं मिली। आसपास के लोग उसे और बच्ची को उठाकर अंदर ले गए।

महिला के पति कृष्ण कुमार का कहना है कि उनका घर अस्पताल से करीब 400 मीटर की दूरी पर है। उन्होंने एंबुलेंस के लिए 102 नम्बर पर कई बार कॉल की, जो रिसीव नहीं की। इसके बाद मां लक्ष्मी देवी सुषमा को लेकर पैदल ही अस्पताल के लिए निकल पड़ी थी। एसएमओ डॉ. धर्मेन्द्र कहा कि वे खंड के कंटेनमेंट जोन में कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच के लिए गए हैं। नारनौल से कोई सूचना नहीं भेजी गई। स्ट्रेचर न मिलने के मामले में कार्रवाई की जाएगी।

#latestnews #haryananews #newskinews #tajanews #aajkilatestnews

9 views