• न्यूज की न्यूज डेस्क.

पानीपत से जोधपुर केवल टैंकर ले जाने के मिलने थे 1.40 लाख रूपए, जानिए क्यों?

पानीपत से जोधपुर तक एक टैंकर ले जाने के लिए ड्राइवर को 1.40 लाख रूपए मिलने थे। उसे पड़ोसी गांव के युवक ने छोटू नाम के आदमी से मिलवाकर करवाई थी बात। 

दरअसल, अवैध शराब तस्करी मामले में एवीटी स्टाफ ने रविवार को गैस टैंकर चालक बाड़मेर के गांव भुनिया वासी आरोपी किशना राम को अदालत में पेश करके 3 दिन के रिमांड पर हासिल किया है। किशना राम ने पुलिस को बताया कि मेरे पड़ोसी गांव में एक युवक रहता है। उसकी छोटू नामक व्यक्ति से जान पहचान है, जिसके लिए वह काम करता है। इसने ही मुझे छोटू से मिलवाया था। मुझे पानीपत के एक होटल से गैस टैंकर में लोडिड 781 पेटी अंग्रेजी शराब को जोधपुर पहुंचाने के लिए छोटू ने कहा था। इसकी एवज में मुझे 1 लाख 40 हजार रुपए मिलने थे। चालक व शराब से भरे टैंकर पर नजर रखने के लिए शराब माफिया के गुर्गे हर जिले और 100 से 200 किलोमीटर के दायरे में सक्रिय थे। हिसार पहुंचने पर एक व्यक्ति को मुझसे मिलना था जोकि आगे कैसे जाना है, इसकी जानकारी देता। छोटू भी वॉट्सएप काॅलिंग के जरिए संपर्क बनाए था।

ऐसे में पुलिस को छोटू की तलाश है। यही बता सकता है कि कौन सा शराब माफिया है जोकि तस्करी कर जोधपुर में शराब की खेप पहुंचा रहा था।

यह शराब करीब 35 लाख कीमत की है। टैंकर से बरामद शराब की 781 पेटियों को सील कर दिया गया है। शराब की गुणवत्ता जांचने के लिए कुछ सैंपल एक्साइज लैब में भिजवाए हैं। इस मामले में पुलिस प्रशासन ने एक्साइज विभाग को पत्र लिखकर मामले से अवगत करवाया है। विभागीय जांच करने का आग्रह किया है। पुलिस को आरोपी टैंकर चालक किशना राम ने बताया कि छोटू ने बोला था कि मिलीभगत करके शराब की खेप राजस्थान पहुंचानी है। मुझे राजस्थान पहुंचकर छोटू को फोन करना था। उसके कहने पर धोखा देने के लिए टैंकर की नंबर प्लेट से छेड़छाड़ की थी। इतना ही नहीं मैकडोवल की 711 और रॉयल चैलेंज की 70 पेटियां हैं। मैकडोवल शराब का एमएफजी युनाइटेड स्प्रिट लिमिटेड एट यूनिट ऑफ ग्लोबस स्प्रिट लिमिटेड समालखा, हरियाणा लिकर प्राइवेट लिमिटेड विलेज जुंडलाना करनाल, रॉयल चैलेंज पर हरियाणा ऑर्गेनिक ए यूनिट ऑफ ग्लोबस स्प्रिट लिमिटेड समालखा है।

#wine #winenews #jodhpur #police #arrest #latestnews #haryananews #newskinews

14 views