• न्यूज की न्यूज डेस्क.

बरौदा के लिए भाजपा कर रही बड़ी घोषणाएं, क्या उसे पता चल गया है कि वो उपचुनाव हार रहे हैं?

हरियाणा में बरौदा सीट पर उपचुनाव होने वाले हैं और जल्द ही उसकी तारीखों का भी एलान हो सकता है. लेकिन क्या भाजपा को पहले ही पता चला गया है कि वो मौजूदा स्थिति में बरौदा चुनाव को हार रहे हैं. यही कारण है कि जिस बरौदा की तरफ भाजपा देखती भी नहीं थी अब उसके लिए हर रोज बड़ी-बड़ी घोषणाएं कर रही है.

कृषि मंत्री जेपी दलाल जिन्हें बरौदा के लिए प्रभारी बनाया गया है उनका कहना है कि यहां के विधायक के निधन के कारण उपचुनाव होने जा रहा है और पिछले एक महीने से उन्होंने स्वयं उस विधानसभा क्षेत्र का दौरा किया है. उन्हें जानकारी मिली की यहां पर विकास कार्यों की काफी कमी है और इस क्षेत्र में पीने के पानी की किल्लत के साथ-साथ जलभराव की समस्या भी है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वयं इस पर कड़ा संज्ञान लिया है और सबसे पहले हल्के के छिछड़ाना, बरौदा, निजामपुर, राणा खेड़ी, मबतन,सिकन्दपुर माजरा, रामगढ़ और माहरा गांवों में छ: नये वाटर वर्कस का निर्माण कार्य करवाने की स्वीकृति प्रदान की है. लेकिन ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि सीएम की तरफ से यह कड़ा संज्ञान पहले क्यों नहीं लिया गया? अब उप चुनाव आने पर ही कड़ा संज्ञान क्यों लिया जा रहा है? जय प्रकाश दलाल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बरौदा विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न विकास कार्यों के लिए 271.37 करोड़ रुपये की राशि भी अनुमोदित की है. इतनी बड़ी राशि सीएम ने पहले तो कभी नहीं दी बरौदा के लिए तो अब क्यों दे रहे हैं? लगता है भाजपा कोा पता चला गया है कि वो बरौदा उपचुनाव हारने वाले हैं. यही तो कारण है कि भाजपा लगातार बड़ी घोषणाएं यहां के लिए किए जा रही है. कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने जानकारी दी कि निर्माणाधीन दिल्ली-अमृतसर एक्सप्रैसवे इस विधानसभा क्षेत्र से गुजरेगा, इसलिए सरकार ने यह निर्णय लिया है कि इस एक्सप्रैसवे के साथ-साथ एक नया औद्योगिक माडल टाउनशिप (आईएमटी) विकसित किया जाए. इससे निवेश के साथ-साथ स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे. अब सवाल तो फिर से वही है कि भाजपा की सरकार प्रदेश में बने 6 साल हो गए हैं तब से बरौदा में आईएमटी के बारे में सोचते तो अब तक तो शायद बन भी गई होती. लेकिन बात तो चुनाव की है ना इसलिए बड़ी घोषणाएं अभी करनी हैं. दलाल ने कहा कि बरौदा विधानसभा प्रदेश का ऐसा विधानसभा क्षेत्र है, जिसमें कोई शहर नहीं पड़ता और इसके अन्तर्गत 56 गांव आते हैं. उन्होंने कहा कि किसी समय पंचायतों व समाज के सहयोग से इस क्षेत्र के बुटाना गांव में जनता कॉलेज खोला गया था. अब मुख्यमंत्री ने लोगों की मांग पर इस कॉलेज को विश्वविद्यालय के रूप में अपग्रेड करवाने का आश्वासन दिया है. इसके अतिरिक्त भी सरकार अब बरौदा के लिए पिटारे में कई बड़ी घोषणाएं लेकर बैठी है जिनके बारे में जल्द बताया जाएगा. यही कारण भी है कि बरौदा उपचुनाव को सरकार लगातार लेट करवा रही है जिससे कुछ घोषणाएं करके भाजपा स्थिति को बेहतर कर सके.

#broda #brodaeletion #sonepat #election #bjp #bjpharyana #cm #manharlaal #jpdalal #egrominister #politicalnews #newskinews #haryana #haryananews #latestnews

241 views