• न्यूज की न्यूज डेस्क.

हरियाणा में फिर लौटा वीआईपी कल्चर, अब लाल बत्ती नहीं, ऐसे होगी विधायकों की पहचान

केंद्र की मोदी सरकार ने लाल बत्ती हटाकर विधायकों और मंत्रियों के जिस वीआईपी कल्चर को खत्म किया था वो हरियाणा की मनोहर सरकार ने फिर से शुरू कर दिया। लेकिन इसमें कुछ बदलाव किया गया है।

हरियाणा के विधायक फिर से वीआईपी हो गए हैं और उनकी गाडी की दूर से ही पहचान हो जाया करेगी। लेकिन अब लाल बत्ती से नहीं बल्कि एक विशेष झंडी से पहचान होगा। सीएम मनोहर लाल ने मंगलवार को मौजूदा विधायकों के वाहनों पर लगाने के लिए झंडी भी लॉन्च की। हरियाणा विधानसभा द्वारा अधिकृत मौजूदा विधायक इस झंडी का इस्तेमाल अपने उन वाहनों पर कर सकेंगे, जो उनके नाम पर पंजीकृत हैं। अगर मौजूदा विधायक के पास अपने नाम से पंजीकृत कोई वाहन नहीं है, तो झण्डी का इस्तेमाल निजी या किराए के वाहनों पर किया जा सकता है। यदि झण्डी वाले वाहन में मौजूदा विधायक नहीं है तो झण्डी को सफेद कवर से ढकना होगा। विधायकों को झंडी के लिए हरियाणा विधानसभा को आवेदन करना होगा।

अधिकृत मौजूदा विधायक द्वारा झण्डी के इस्तेमाल के लिए प्राधिकार-पत्र परिवहन आयुक्त, हरियाणा द्वारा निर्धारित प्रपत्र में जारी किया जाएगा। यह प्राधिकार-पत्र हरियाणा विधानसभा का कार्यकाल पूरा होने या मौजूदा विधायक के राज्य विधानसभा का सदस्य रहने तक वैध रहेगा।

इस दौरान सीएम मनोहर लाल ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर अर्जुन को भगवद गीता का दिव्य संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि हरियाणा और देश के अन्य हिस्सों से लोग विधानसभा सत्र के दौरान सम्मानित सदन की कार्यवाही देखने के लिए विधानसभा गैलरी आते हैं। विधानसभा परिसर में भगवान श्रीकृष्ण के रथ और पवित्र भगवद गीता चित्र को देखकर वे निश्चित रूप से राज्य की गौरवपूर्ण संस्कृति से प्रेरणा लेंगे।

#jhandi #mla #vip #vipculture #haryana #haryananews #bjpharyana #bjp #latestnews #manoharlal #cm #haryanacm #newskinews