• न्यूज की न्यूज डेस्क.

प्रधानमंत्री मोदी ने लगातार सातवीं बार फहराया तिरंगा, इस ख़ास हथियार ने की सुरक्षा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सातवीं बार लाल किले के प्राचीर पर तिरंगा फहराया, जिसके साथ ही वह सबसे अधिक बार ऐसा करने वाले पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बन गए हैं। पीएम मोदी ने पहली बार 2014 में लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था और पिछले वर्ष अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल में छठवीं बार तिरंगा फहराकर भारतीय जनता पार्टी सरकार के पहले प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की बराबरी कर ली थी।


इस दौरान सुरक्षा एजेंसी ने लाल किले की चाक चौबंद व्यवस्था की हुई थी। प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए एंटी ड्रोन सिस्टम की तैनाती की गई थी। इस सिस्टम की मदद से छोटे से छोटे ड्रोन को छोटे से छोटे ड्रोन को तीन किलोमीटर के दायरे में आने से रोकता है। साथ ही एक से ढाई किलोमीटर के दायरे में उसे लेजर की मदद से मार गिराने में सक्षम होता है। इस एंटी ड्रोन सिस्टम की मदद से सुरक्षा एजेंसियां बड़े स्तर पर संभावित खतरे से निपट सकेंगी। इस एंटी ड्रोन सिस्टम को डीआरडीओ ने बनाया है।

सामाजिक दूरी का भी रखा गया पूरा ख्याल

कोरोना महामारी की वजह से इस बार समारोह स्थल पर सामाजिक दूरी का पूरा ख्याल रखा गया था। सुरक्षाकर्मियों समेत अन्य गणमान्य लोग भी चेहरे पर मास्क लगाए हुए थे। प्रधानमंत्री अपने आवास से निकलने के बाद सीधे राजघाट पहुंचे और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। कोविड-19 महामारी के साये में लाल किले पर आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए चार हजार से अधिक लोगों को आमंत्रित किया गया जिनमें अधिकारी, राजनयिक और मीडियाकर्मी शामिल थे। समारोह के मद्देनजर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे। लाल किला के लाहौरी गेट पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री की अगवानी की। लाल किला पहुंचने के बाद मोदी ने गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण किया।

#independenceday #indiaindependenceday #india #pm #pmmodi #modi #specialwapon #politicalnews #latestnews

6 views