top of page
  • न्यूज की न्यूज डेस्क.

नरसिंह यादव का बैन ख़त्म, अब कैसे करेंगे कमबैक?

नरसिंह यादव कॉमनवेल्थ गेम्स के गोल्ड मेडलिस्ट है और उन्होंने इंटरनेशनल लेवल पर भारत को कई मैडल दिलाए हैं। लेकिन साल 2016 में डोपिंग मामले में पॉजिटिव आने के बाद चार साल के लिए नरसिंह को कुश्ती से दूर रहना पड़ा। अब नरसिंह का का बैन इस महीने लास्ट वीकएन्ड पर ऑफिशियली खत्म हो चुका है। अब नरसिंह एक बार फिर से 74 किलो ग्राम भार वर्ग में मेट पर वापसी के लिए तैयार है।

वर्ल्ड एंटी-डोपिंग एजेंसी के एक आधिकारिक मेल में बताया गया कि नरसिंह यादव का पिछला सप्ताह बैन खत्म हो गया है। जिससे वो अब 2021 टोक्यो ओलंपिक सहित आने वाली सभी प्रतियोगिताओं में खेलने के योग्य होंगे।

नरसिंह ने बताया, “बैन आखिरकार खत्म हो गया है।” मैं अब सभी प्रतियोगिताओं में खेलने के लिए एलिजिबल हूं और इस बारे में मेने रेसलिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया को सूचित किया है।”

जब मार्च में टोक्यो ओलंपिक को अगले साल करने की आईओसी ने घोषणा की तो नरसिंह के लिए यह सुनहरे अवसर की तरह था। “जब खबर आई, तो मैं बहुत खुश था। भगवान ने आखिरकार मेरी प्रार्थना सुनी, ”उन्होंने कहा। “मुझे विश्वास है कि यह मेरा भाग्य था कि यह अवसर मेरे दरवाज़े पर दस्तक दे रहा है। हां, मैं खुश हूं लेकिन अब समय आ गया है कि कड़ी मेहनत करें और भारतीय टीम में 74 kg में स्थान पाने के लिए शीर्ष दावेदारों के बीच अपनी जगह बनाएं “।

नरसिंह चार साल से कोई भी कम्पटीशन नहीं खेले है और उनके लिए कमबैक करना काफी चुनौतीपूर्ण रहेगा। 74 किलो ग्राम भर वर्ग ऐसा ग्रुप है जिसमे एक से बढ़कर एक भारतीय पहलवान है इसलिए इस ग्रुप को “ग्रुप ऑफ़ डेथ’ भी कहा जाता है। “यह अच्छा है। हां, यह सच है कि मैंने किसी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया है, लेकिन मैं हर दिन ट्रेनिंग कर रहा हूं। मुझे लगता है कि मैं तैयार हूं, ”2010 राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता नरसिंह ने कहा।

11 views
bottom of page