• न्यूज की न्यूज डेस्क.

हरियाणा के सीएमओ में बड़ा पद पाने के लिए क्यों शुरू हुई दौड़, कौन क्या लगा रहा है जुगाड़?

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सीएमओ यानी उनके इर्द गिर्द के बड़े पदों को पाने के लिए बड़े स्तर पर लॉबिंग शुरू हो गई है। अधिकारीयों ने इसके लिए अपने जुगाड़ भी लगाने शुरू कर दिए हैं और इसका कारण यह है कि सीएम के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर के विश्व बैंक का कार्यकारी निदेशक बन गए हैं, वहीं हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनंद भी 30 सितंबर को रिटायर हो रही हैं।


ये दोनों ही पद बेहद महत्वपूर्ण हैं और इन्हें ज्यादा समय तक खाली नहीं छोड़ा जा सकता। ऐसे में सीएम के नए प्रधान सचिव पद पर किसी भी समय सीनियर आइएएस अधिकारी की नियुक्ति हो सकती है। इस नियुक्ति के साथ ही अफसरशाही में बड़ा बदलाव संभव है। 1988 बैच के आइएएस अधिकारी राजेश खुल्लर सीएम की खास पसंद थे। पिछले छह माह से उनके केंद्र में जाने की चर्चाएं चल रही थी। सांसदों और विधायकों की एक लाबी खुल्लर को सीएम कार्यालय से अलग देखना चाहती थी जबकि एक बड़ी लाबी खुल्लर के समर्थन में खुलकर खड़ी थी। लेकिन अब उनकी नियुक्ति वर्ल्ड बैंक में होने से इस पद के लॉबिंग शुरू हो गई है।

जानिए कौन-कौन हैं दावेदार और क्या लगा रहे जुगाड़ - - मुख्यमंत्री कार्यालय में अब वी उमाशंकर सीएम के अतिरिक्त प्रधान सचिव और आशिमा बराड़ सीएम की उप प्रधान सचिव के तौर पर कार्यरत हैं ऐसे में इनमें से किसी एक को प्रधान सचिव बनाया जा सकता है।

- हालांकि चर्चा वी उमाशंकर के प्रधान सचिव पद पर प्रमोट होने की हैं।

- खुल्लर चाहते हैं कि सकारात्मक सोच के सीनियर आइएएस अधिकारी टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग के प्रधान सचिव अपूर्व कुमार (एके) सिंह सीएम के नए प्रधान सचिव बनें।

- आबकारी एवं कराधान विभाग के प्रधान सचिव अनुराग रस्तोगी को सीएम खुद पसंद करते हैं। रस्तोगी हर सरकार में पसंद किए जाते रहे हैं और गैर विवादित अधिकारी हैं।

- सीएम के मौजूदा अतिरिक्त प्रधान सचिव योगेंद्र चौधरी भी प्रधान सचिव पद पर प्रमोट होने के लिए प्रयासरत हैं।

- वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद का नाम भी सीएम के प्रधान सचिव पद के लिए चल रहा है, लेकिन ब्यूरोक्रेसी में उन्हें लेकर विवाद की स्थिति है। प्रसाद को खुल्लर का बैचमेट बताया जाता है। - स्वास्थ्य और लोक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा भी सीएम के प्रधान सचिव पद के दावेदार हैं। राजीव अरोड़ा के भाई सुनील अरोड़ा केंद्रीय चुनाव आयोग में मुख्य आयुक्त हैं। इस जोड़तोड़ का उन्हेंं लाभ मिल सकता है। - कामकाज के लिहाज से कृषि एवं सहकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल का कोई जवाब नहीं है, लेकिन कौशल सीएमओ में खुल्लर से पहले सीएम के प्रधान सचिव रह चुके हैं। लिहाजा उनकी दोबारा सीएमओ में इंट्री होगी, इसका संभावना काफी कम है। - मौजूदा मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा इसी माह रिटायर हो रही हैं। उनके स्थान पर गृह सचिव विजयवर्धन को मुख्य सचिव बनाया जा सकता है।

ये भी बदलाव हो सकते हैं : हरियाणा के सीनियर आइएएस अधिकारी पीके दास, टीसी गुप्ता, धीरा खंडेलवाल और आलोक निगम को भी इस बार अहम जिम्मेदारियां मिलने की पूरी संभावना है। मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. राकेश गुप्ता की सीएमओ में वापसी की संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। प्रदेश सरकार में सीएम के नए प्रधान सचिव की नियुक्ति के साथ ही पूरे जिले में मंडलायुक्त और जिला उपायुक्तों में भी बदलाव होना तय है।

#cmo #haryanacmo #haryana #haryananews #manoharlaal #khullar #politicalnews #latestnews #newskinews #tajasamchar

36 views