• न्यूज की न्यूज डेस्क.

जींद में लोगों ने क्यों दी बैरियर उखाड़ने की धमकी?

जींद के गांव बद्दोवाल में हिसार-चंडीगढ़ राजमार्ग पर स्थित टोल प्लाजा पर 20 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों का टोल माफ करने की मांग को लेकर शनिवार को नरवाना व छह गांवों के लोगों ने हंगामा किया। लोगों के विरोध को देखते हुए टोल टैक्स पर भारी मात्रा में पुलिस बल को तैनात किया गया है, जबकि ग्रामीणों का कहना है कि अगर 20 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों के लोगों से टैक्स लिया तो टोल को उखाड़ देंगे।

पहले टोल प्लाजा के अधिकारियों ने मौखिक रूप से माफ किया हुआ था, लेकिन बाद में सात जुलाई तक टोल अधिकारियों ने नरवाना सहित छह गांवों के वाहन चालकों को फास्टैग लगाने के निर्देश दे दिए थे। इससे वाहन चालकों में फास्टैग लगाने को लेकर विरोध हो गया था। इसी बीच 6 जुलाई को ग्रामीणों ने टोल प्लाजा पर पहुंचकर प्रशासन के खिलाफ नाराजगी व्यक्त की गई थी। इसके चलते अधिकारियों ने ग्रामीणों की मौजूदगी में टोल प्लाजा के मैनेजर से बात की थी और आगामी आदेशों तक टोल टैक्स न लेने के लिए कहा था, लेकिन टोल अधिकारियों ने आदेशों को मानने से इनकार कर दिया। टोल प्लाजा बनने के बाद बद्दोवाला, सुंदरपुरा, दनौदा, दबलैन, सच्चा खेड़ा व नरवाना के वाहन चालकों को यहां से गुजरने के लिए कोई टोल टैक्स नहीं चुकाना पड़ता था। एक जुलाई के बाद टोल कर्मियों ने इन सभी गांवों के लोगों से टोल टैक्स वसूलना शुरू कर दिया। इसके बाद से ग्रामीण लगातार उसका विरोध कर रहे हैं, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। इसके चलते ग्रामीण शनिवार को एक बार फिर टोल प्लाजा पर पहुंच गए और प्रदर्शन किया।

अगले दिन से ही नरवाना सहित 6 गांवों के लोगों से टोल टैक्स वसूलना शुरू कर दिया। इस कारण वाहन चालकों की टोल कर्मियों से कहासुनी हो रही है। करीब एक माह से ग्रामीण इसके लिए संघर्ष कर रहे हैं और टोल प्लाजा पर प्रदर्शन करने के लिए शनिवार का समय दिया हुआ है। वहां काफी संख्या में ग्रामीण पहुंच गए।

टोल कर्मचारियों के अनुसार 20 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले लोगों के लिए 275 रुपए महीना निर्धारित किया गया है। बिना पास के ग्रामीण टोल क्रास नहीं कर सकते हैं। हम नियम की उल्लंघन नहीं कर सकते।

11 views