• न्यूज की न्यूज डेस्क.

हरियाणा कलाकार आए किसानों के समर्थन में, गानों की लगी लाइन

हरियाणा के कुरुक्षेत्र में पिपली में किसानों पर हुए लाठीचार्ज की देशभर में चर्चा है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर तो विरोध है ही, अब हरियाणवी म्यूजिक इंडस्ट्री के कलाकार भी इसके विरोध में खुलकर सामने आ गए हैं।

शुरुआत में जहां कई कलाकारों गजेंद्र फौगाट और केडी आदि ने सोशल मीडिया पर विरोध जताया था वहीं अब किसानों पर हुए इस अत्याचार को लेकर हरियाणवी गानों की लाइन लग गई है। हरियाणा के दर्जनों कलाकारों ने इस लाठीचार्ज पर गाने बनाए हैं जिनमें किसान की दुर्दशा और सरकार के अत्याचार पर खुलकर बोला है। इतना ही नहीं हरियाणा के लोगों का भी इस गानों को भरपूर प्यार मिल रहा है। यू-ट्यूब और सोशल मीडिया पर लोग इन गानों को जमकर पसंद कर रहे हैं। वहीं कमेंट के अंदर लोगों का गुस्सा भी खूब देखने को मिल रहा है। इस बारे में कुछ हरियाणवी कलाकारों का कहना है कि हम हरियाणा के हैं और हरियाणा के लोगों की आवाज उठाना हमारा धर्म और कर्म दोनों हैं। प्यार-प्रेम और अन्य विषयों पर तो गाने बनते ही रहते हैं लेकिन अब अन्नदाता पर अत्याचार हुआ है तो हम कैसे चुप रह सकते थे। इसलिए हमने गानों के माध्यम से किसानों की आवाज उठाने का प्रयास किया है।

ये हैं प्रमुख गाने : फार्मर : अमित सैनी रोहतकिया ने इस गाने को बनाया है जिसे लोगों को जमकर प्यार मिल रहा है, हालांकि इसी नाम से एक गाना पहले से गुलजार छानिवाला का भी है। किसान : शैंकी गोस्वामी का यह गाना है और किसानों होते आए अत्याचार के बारे में इस गाने में बताया गया है। जमींदार : अमित सैनी रोहतकिया का ही एक और गाना है जिसका नाम है जमींदार। इसमें भी किसानों की दुर्दशा के बारे में बताया गया है। लहू सडक पै : बिंद्र दनोधा ने इस गाने को गाया है और इसके द्रश्यों में भी पिपिली के अंदर किसानों पर हुए लाठीचार्ज को दिखाया गया है।

- इसके अतिरिक्त भी दर्जनों हरियाणवी गाने किसानों पर आ गए हैं। अब देखना यह है कि ये संघर्ष केवल गानों तक सिमित रहता है या कोई जनांदोलन बनता है।

#farmer #kisaan #haryanvisong #haryanvimusic #songonfarmer #haryana #haryanvi #latestnews #newskinews #haryananews

17 views