• न्यूज की न्यूज डेस्क.

लाठीचार्ज के बाद अब किसानों ने किया कौनसा बड़ा एलान, क्यों कहा अनिल विज को नालायक?

हरियाणा के कुरुक्षेत्र के पिपली में किसानों पर हुए लाठीचार्ज के बाद अब किसानों ने सरकार के खिलाफ खुलकर आंदोलन करने की योजना बना ली है। जींद की जाट धर्मशाला में भारतीय किसान यूनियन ने राज्य स्तरीय बैठक की। इसमें अब किसान नेताओं ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी कर दी है। बैठक में किसानों से जुड़े 19 संगठनों ने हिस्सा लिया जिसमें आंदोलन का आगे बढ़ाने की पूरी रुपरेखा तैयार की गई।

भाकियू के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि सरकार किसानों की मांग नहीं मानती है तो प्रदेश स्तर पर धरने प्रदर्शन और उसके बाद सांकेतिक हड़ताल होगी। उन्होंने कहा कि अब किसानों को एकजुट होकर लड़ाई लड़नी होगी। जिससे ही सरकार किसानों के बारे में कुछ सोच सकती है। गुरनाम सिंह चढूनी ने आंदोलन का पूरा खाका बताते हुए कहा कि 15 सितंबर से सभी जिला मुख्यालयों पर धरने शुरु किये जाएंगे, उसके बाद ये धरने 19 तारीख तक चलेंगे। 20 सितंबर को पूरे प्रदेश में तीन घंटे के लिए रोड जाम किया जाएगा। अगर फिर भी सरकार नहीं मानी तो 27 सितंबर से पूरे प्रदेश में यात्रा निकाली जाएगी। यात्रा के समापन पर प्रदेश के बड़े सम्मेलन का आयोजन होगा।

अनिल विज नालायक, किसानो को म्र्रने की थीं साजिश :  ग्रह मंत्री अनिल विज के लाठीचार्ज न होने के बयान पर कहा कि इससे बड़ा नालायक आदमी नहीं हो सकता, जब वीडियो जारी हो चुकी है। सब कुछ साफ है तो नालायक गृहमंत्री कह रहे हैं कि लाठीचार्ज के लिए आदेश नहीं हुआ तो फिर लाठीचार्ज किसने किया है। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज क्यों नहीं किया। बिना वर्दी के मोटे डंडे लेकर लाठीचार्ज करने की तस्वीरें वायरल होने पर कहा कि सरकार ने पुलिसकर्मियों को सिविल ड्रेस में मोटे डंडे देकर हमें मरने के लिए खड़ा किया गया था। सीधे सिर में मरने के लिए यह एक साजिश है और हत्या का प्रयास किया गया था, इसका नतीजा बीजेपी को भुगतना पड़ेगा।

जब भाजपा नेता धरनों में शामिल होते थे : आंदोलन में कांग्रेस का हाथ होने के सवाल पर कहा कि कई किसान ऐसे है जिनको लाठीचार्ज में चोंटे लगी है वो जेजेपी के है बीजेपी के है क्या वह भी कांग्रेस के कहने से आए हैं। उन्होंने कहा कि जब 2012 –13 में हमारा गन्ने का आंदोलन था तो बीजेपी के सारे नेता हमारे धरने पर आते थे तब कांग्रेस कहती थी कि यह धरना बीजेपी का है हमेशा पार्टियां आंदोलन को दबाने के लिए प्रयास करती है यह आंदोलन अराजनीतिक है। अपने समय में कांग्रेस की भी वहीं नीतियां रही है जो बीजेपी की है। किसान कोई बीजेपी की राज में ही नहीं लूट रहा उससे पहले भी लूटा है। किसी को इस आंदोलन को कैप्चर नहीं करने दिया जाएगा। कांग्रेस अगर इसको छिनना चाहती है तो बिल्कुल नहीं छीनने देंगे। यह आंदोलन कंपनी वर्सेस आम जनता है किसी राजनीतिक पार्टी का नहीं है। राजनीतिक वाले अपनी रोटियां सेकने के लिए आते हैं उनको हम फायदा नहीं उठाने देंगे।

#farmer #anilvij #homeminister #pipli #jind #bku #police #beatenbypolice #haryana #haryananews #latestnews #newskinews

268 views

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

Haryana, India

© 2023 by TheHours. Proudly created with Wix.com