• न्यूज की न्यूज डेस्क.

एमएसपी और किसानों पर फिर बोले डिप्टी सीएम, जानिए क्या कहा?

हरियाणा में एमएसपी का मुद्दा काफी समय से किसानों के अंदर चर्चित है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला कई दिनों से कोरोना से पीड़ित होने के कारण कोई ब्यान नहीं दे रहे थे। लेकिन अब वो ठीक हो गए हैं लोगों के मध्य आकर फिर से ब्यान दे रहे हैं।  

दुष्यंत चौटाला ने पंजाब सरकार द्वारा विधानसभा में कृषि बिलों के विरूद्ध पास किए गए कृषि बिल को लेकर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर सियासी हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री पंजाब के कृषि बिलों की आड़ में किसानों को धोखा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर कैप्टन अमरिंदर सिंह किसानों के सच्चे दिल से हितैषी हैं तो उन्हें केवल गेहूं व धान की खरीद एमएसपी पर करने की बजाय सरसों, कपास बाजरा, दलहन, सूरजमुखी जैसी अन्य फसलों की भी खरीद एमएसपी पर करने के लिए कानून बनाना चाहिए। डिप्टी सीएम ने कैप्टन अमरिंदर से सवाल पूछा है कि कांग्रेस शासित प्रदेशों में उनकी सरकारें सभी फसलों को एमएसपी पर खरीदने का बिल अपनी विधानसभाओं में क्यों नहीं पास करती। उन्होंने कहा कि जबकि हरियाणा सरकार खरीफ की पांच फसलों को जिनमें, सुरजमुखी, बाजरा, मक्का, कपास व धान की खरीद एमएसपी कर रही है। डिप्टी सीएम ने कहा कि पंजाब में कपास की फसल की भी सीसीआई द्वारा एमएसपी पर खरीद शुरू नहीं की गई है जबकि हरियाणा में कपास की खरीद सीसीआई द्वारा एमएसपी पर खरीदी जा रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री की नीयत व नीति दोनों में खोट है और वो लगातार किसानों को बरगलाने का बीड़ा उठाए हुए हैं।

हरियाणा में 1509 धान की खरीद एमएसपी पर : उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पहले हरियाणा में धान की 1509 किस्म की एफसीआई द्वारा खरीद नहीं की जाती थी इसलिए हरियाणा सरकार ने निर्णय लिया है कि 1509 किस्म की धान की खरीद अन्य किस्मों की तर्ज पर हैफेड द्वारा 1885 रुपए प्रति क्विंटल के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी। इस बारे में उन्होंने अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए हैं।

बरोदा चुनाव पर बोले : बरोदा उपचुनाव के सवाल पर डिप्टी सीएम ने गठबंधन प्रत्याशी की जीत का दावा किया और कहा कि ऐतिहासिक बढ़त हासिल कर बरोदा में हमारा प्रत्याशी योगेश्वर दत्त विजयी होंगे। उन्होंने कहा कि पिछली बार भारतीय जनता पार्टी का प्रत्याशी मात्र करीब पांच हजार के अंतर से हारा था जबकि बीजेपी व जेजेपी अलग-अलग चुनाव लड़ रहे थे। इस बार भाजपा व जेजेपी एक साथ बरोदा उपचुनाव के मैदान में उतरे हैं और इस लिहाज से गठबंधन प्रत्याशी रिकॉर्ड अंतर से विजयी होगा। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि बरोदा उपचुनाव में प्रचार को लेकर दोनों दलों के नेता मंथन करने में जुटे हैं और वह स्वयं जल्द ही बरौदा उपचुनाव में गठबंधन प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतरेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल व मेरे कार्यक्रमों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

#dushyant #dushyantchautala #jjp #haryana #haryananews #punjab #agrobill #msp #latestnews #baroda #barodanews #barodaelection #newskinews