• न्यूज की न्यूज डेस्क.

स्वतंत्रता दिवस पर महिला सरपंचों को डिप्टी सीएम दुष्यंत ने दिलाई सही आजादी, जानिए कैसे?

74वें स्वतंत्रता दिवस पर गुरुग्राम में आयोजित कार्यक्रम में हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने ध्वजारोहण किया और देश के शहीदों के बलिदानो का स्मरण करवाते हुए उन्हें नमन किया। इस दौरान उन्होंने महिला सरपंचों को सही मायने में आजादी दिलाने का काम किया।

समारोह में प्रदेशभर से पंचायती राज संस्थाओं में विभिन्न पदों पर रहते हुए सराहनीय कार्य करने वाली 100 महिला अचीवर्स को एक-एक स्कूटी भेंटकर सम्मानित किया गया। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि हमारी सरकार का लक्ष्य है कि आने वाले समय में पंचायती राज संस्थाओं मे महिलाओं को 50 प्रतिशत हिस्सेदारी देकर महिला सशक्तिकरण को नई उर्जा और ताकत देना है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि महिला सरपंचों को अब कहीं गांवों के काम करवाने के लिए शहर में जाने के लिए पुरुषों के भरोसे रहना पड़ता था लेकिन अब ऐसा नहीं होगा और इन स्कूटी से खुद कहीं भी जाने के लिए आजाद रहेंगी। उपमुख्यमंत्री अपने संदेश में कहा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों के बलिदानों को कभी भुलाया नहीं जा सकता। उनहोंने कहा कि चाहे 1962 का भारत-चीन युद्ध हो या 1965 और 1971 के पाकिस्तान के साथ हुए युद्ध हों अथवा कारगिल संघर्ष या अब भी सीमा पर जब-जब देश की सुरक्षा की बात आई है हरियाणा के जवानों ने वीरता के साथ भारत मां की सेवा में अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान दिया है।

गरीब, किसान, कमेरे वर्ग को और मजबूत करना सरकार का लक्ष्य

उपमुख्यमंत्री का संबोधन कमेरे वर्ग, ग्राम पंचायतों, किसानों, युवाओं तथा महिला सशक्तिकरण पर ज्यादा केन्द्रित रहा। वर्तमान सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि हमारी सरकार का लक्ष्य कमेरे वर्ग को और मजबूत करना है। इसके लिए केन्द्र और प्रदेश की सरकार निरंतर प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि दोनों सरकारों ने जो कदम उठाएं हैं, उससे देश आत्मनिर्भर बनने की दिशा में अग्रसर है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जातिवाद, क्षेत्रवाद और भाई-भतीजावाद से उपर उठकर किसान और मजदूर के कल्याण, युवा के उत्थान, महिला के सम्मान के लिए काम करते हुए राज्य सरकार प्रदेश को नई उंचाईयों पर ले जाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि ईज ऑफ लिविंग को प्रदेश में मॉनीटर किया जा रहा है और नए उद्योगों को प्रदेश में लाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

जननायक चौ. देवीलाल के सुनाये किस्से

दुष्यंत चौटाला ने अपने परदादा पूर्व उपप्रधानमंत्री स्व. चौधरी देवीलाल को याद करते हुए कहा कि वे कहा करते थे कि ‘लोकराज लोकलाज से चलता है‘ और उसके बाद ऐतिहासिक तौर पर हरियाणा और देश में जो भी सरकारें रही हैं उनका यह उद्देश्य और लक्ष्य रहा है कि कैसे सरकारों को जनता की ओर समर्पित किया जाए। उन्होंने कहा कि चौधरी देवीलाल ने हर बच्चे को स्कूल जाने को प्रेरित करने के लिए हर स्कूल जाने वाले बच्चे को एक रूपया देने की योजना शुरू की थी। डिप्टी सीएम ने कहा कि आज उसी योजना का एक रूप सर्व शिक्षा अभियान के तौर पर लागू है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार जननायक चौधरी देवीलाल ने 100 रूपये मासिक से बुढ़ापा पेंशन शुरू की थी, जिसके बाद में दूसरे प्रदेशों ने भी इसे अपनाया। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अब यह कहते हुए खुशी है कि हरियाणा प्रदेश सबसे ज्यादा 2250 रूपये मासिक बुढ़ापा पेंशन देकर बुजुर्गों को सम्मान दे रही है।

तेजी से डिजिटाइजेशन की ओर बढ़ रहा हरियाणा उन्होंने कहा कि आने वाले समय में हरियाणा देश के उन अग्रणी राज्यों में होगा जहां पर ई-स्टांप प्रणाली की तर्ज पर ई-रजिस्ट्रेशन भी लागू होगा। उन्होंने कहा कि इस दिशा में कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की सभी 127 तहसीलों तथा उप तहसीलों में वेब हैलरिस के माध्यम से पंजीकरण की प्रणाली को सरल बनाने के लिए सर्वे जनरल ऑफ इंडिया के सहयोग से एक-एक गांव का सर्वे करवाया जा रहा है और इस प्रणाली की शुरूआत करनाल जिला के गांव सिरसी से की गई थी जो हरियाणा ही नहीं बल्कि देश का पहला लाल डोरा मुक्त गांव बना। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इस प्रणाली की प्रधानमंत्री ने भी सराहना की है। उन्होंने कहा कि आगामी 2 अक्टूबर तक हरियाणा के हर जिला में 11-11 गांवो को लाल डोरा मुक्त किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष में प्रदेश के सभी 6800 ग्राम पंचायतों को डिजिटलाइज करके एक-एक गांव का सर्वे पूरा करने का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि गुरूग्राम का सर्वे करवाकर डिजिटल रिकॉर्ड तैयार करवा लिया गया है। इसके अलावा सरकार जींद, करनाल तथा सोहना का भी एक महीने में डिजीटल रिकॉर्ड तैयार कर लेगी।

किसानों के हित में निरंतर सरकार कर रही कार्य

किसानों के लिए वर्तमान राज्य सरकार द्वारा करवाए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में कुल 44 लाख हैक्टेयर भूमि में से लगभग 36 लाख हैक्टेयर खेती के लायक है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के किसान इसमें 200 प्रतिशत उपज अपने खेत से लेते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अब इसे और भी बढ़ाने की दिशा में काम कर रही है।

कोरोना वॉरियर्स को सलाम

कोरोना काल में चिकित्सकों, नर्सों, पुलिसकर्मियों आदि कोरोना वॉरियर्स द्वारा किए गए सराहनीय कार्यों के लिए उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने उन्हें सलाम करते हुए उनका धन्यवाद किया। समारोह में गुरूग्राम जिला में बेहतर काम करने वाले 42 कोरोना योद्धाओं को भी सम्मानित किया गया। वहीं उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार किया जा रहा है और 400 मोबाइल डिस्पेंसरी शुरू की गई है।

#independenceday #indiaindependenceday #15august #scootytowomensarpanch #scooty #diptycm #diptycmharyana #dushayntchoutala #gurugram #haryana #haryananews #latestnews #politicalnews #neskinews #jjp

65 views