• न्यूज की न्यूज डेस्क.

26 जनवरी हिंसा मामले में जमानत मिलते ही किसे पुलिस ने फिर किया गिरफ्तार?

तीनों कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसानों के आंदोलन में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा मामले में शनिवार को एक रोचक घटना सामने आई. कोर्ट ने हिंसा मामले में गिरफ्तार चल रहे पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू को शर्तों पर जमानत तो दी लेकिन उसके कुछ देर बाद ही दिल्ली पुलिस ने उसे फिर से गिरफ्तार कर लिया है.

दिल्ली की कोर्ट ने दीप सिद्धू को 30,000 रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी. हालांकि ज़मानत के कुछ घंटों बाद ही सिद्धू को फिर से गिरफ्तार कर लिया गया. किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान 26 जनवरी को हुई हिंसा के आरोपी दीप सिद्धू ने बीती सुनवाई के दौरान (8 अप्रैल) स्वयं को निर्दोष बताते हुए जमानत देने का आग्रह किया था। सिद्धू ने कहा था कि उसे फर्जी तरीके से मामले में फंसाया जा रहा है। वहीं अभियोजन पक्ष ने जमानत पर आपत्ति जताते हुए उसे मुख्य आरोपी बताया था।


दीप सिद्धू के अधिवक्ता ने उनका पक्ष रखते हुए कहा था कि उनके मुवक्किल के खिलाफ कोई सबूत नहीं है, जिससे पता चल सके कि उसने हिंसा के लिए लोगों को भड़काया। उन्होंने कहा कि किसान ट्रैक्टर परेड के लिए किसान नेताओं द्वारा आह्वान किया गया था, दीप सिद्धू तो किसान यूनियन का सदस्य भी नहीं है। इतना ही नहीं सिद्धू ने लाल किला पंहुचने के लिए किसी को भी कोई कॉल भी नहीं किया।

अदालत ने लगाई शर्त :

जज ने कहा कि आरोपी अपना पासपोर्ट अदालत में जमा कराए। पुलिस अथवा अदालत की प्रत्येक सुनवाई पर हाजिर हो। गवाहों को धमकाने या प्रभावित करने का प्रयास ना को। साथ ही अदालत ने कहा कि लोकतंत्र में असंतोष और प्रदर्शन मौलिक अधिकारों के दायरे में है। इसमें कोई विवाद नहीं कि संविधान अपने अधिकारों की रक्षा के लिए शांतिपूर्वक विरोध की स्वतंत्रता और गांरटी देता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि इस तरह की हिंसा फैलाई जाए।


क्या है मामला :

दीप सिद्धू को 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किला परिसर में हुई हिंसा के मामले में नौ फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। ट्रैक्टर परेड के दौरान कई प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर चलाते हुए लाल किले तक पहुंच गए थे और ऐतिहासिक स्मारक में प्रवेश कर गए थे। इतना ही नहीं उसकी प्राचीर पर एक धार्मिक झंडा भी लगा दिया था। लाल किला हिंसा के सिलसिले में दर्ज एफआईआर में पुलिस ने कहा है कि प्रदर्शनकारियों ने दो कॉन्स्टेबल से 20 कारतूस वाली दो मैग्जीन छीन ली थीं। प्रदर्शनकारियों ने वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया था।

38 views