• न्यूज की न्यूज डेस्क.

क्या सही में रिया के बाद अब गिरफ्तार हो सकती हैं दीपिका पादुकोण?

ड्रग्स मामले में कई बड़े नाम फंसते दिखाई दे रहे हैं और सबसे बड़ा नाम जो सामने आ रहा है वो दीपिका पादुकोण का है। दरअसल, सोमवार रात से इस केस में दीपिका पादुकोण और उनकी मैनेजर करिश्मा प्रकाश के बीच हुई बातचीत के हिस्से सामने आ रहे थे। इनमें दीपिका के लिए D और करिश्मा के लिए K कोडनेम का इस्तेमाल किया जा रहा था, लेकिन अब दीपका पादुकोण की वॉट्सऐप चैट के स्क्रीनशॉट्स सामने आए हैं। जिनसे लगता है दीपिका की मुश्किलें काफी बढ़ सकती हैं और उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है.

दीपिका-करिश्मा के बीच यह बातचीत 28 अक्टूबर 2017 को हुई थी। स्क्रीनशॉट्स इस बात की पुष्टि करते हैं कि करिश्मा से हो रही बातचीत में दीपिका ‘hash’ और ‘weed’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं। प्रतिबंधित ड्रग्स से जुड़ी भाषा में hash का इस्तेमाल हशीश के लिए होता है। दोनों के बीच बातचीत में यह साफ नहीं है कि हैश और वीड का इस्तेमाल किसके लिए हो रहा है। इन ड्रग्स की मात्रा का भी जिक्र नहीं है, लेकिन ये वॉट्सऐप चैट दीपिका की मुश्किलें बढ़ा देने के लिए काफी है। अगर वे जांच के घेरे में आती हैं और इन सबूतों को मजबूत माना जाता है, तो उनके खिलाफ गंभीर धाराओं में मामला दर्ज हो सकता है।


बातचीत के स्क्रीनशॉट्स :

सुबह 10:04 बजे: दीपिका करिश्मा को लिखती हैं, 'क्या तुम्हारे पास माल है?'

10:05 बजे: करिश्मा लिखती हैं, 'मेरे पास है, लेकिन घर में है। मैं बांद्रा में हूं।' 10:05 बजे: अगले चैट में करिश्मा लिखती हैं, 'क्या मैं अमित से कहूं, अगर तुम्हें चाहिए तो।' (अमित कौन है, यह साफ नहीं है।) 10:07 बजे: दीपिका लिखती हैं, 'Yes!! Pllleeeeasssee..'​​​​​​​ 10:08 बजे: करिश्मा लिखती हैं, "अमित के पास है। वह उसे लेकर आ रहा है।' 10:12 बजे: दीपिका लिखती हैं,'हैश न?' अगले चैट में वे लिखती हैं, 'वीड (गांजा) नहीं न?' 10:14 बजे: करिश्मा लिखती हैं, 'तुम कितनी बजे कोको आ रही हो?' (कोको मुंबई का एक बार है।) 10:15 बजे: दीपिका लिखती हैं, '11:30 या 12 बजे तक'। 10:15 बजे: दीपिका आगे लिखती हैं, 'शैल* कितने बजे तक वहां पहुंच जाएगी? (शैल कौन है, यह साफ नहीं है।) इस पर करिश्मा लिखती हैं, ‘मुझे लगता है कि उसने 11:30 कहा था, क्योंकि उसे 12 बजे किसी दूसरी जगह पर पहुंचना था।’

इस धाराओं में केस दर्ज हो सकता है - सेक्शन 8(c): जानबूझकर कोई ऐसी संपत्ति खरीदना या उसका इस्तेमाल करना,जो इस कानून का उल्लंघन हो। सेक्शन 20(b)(ii): अगर कोई कम मात्रा में प्रतिबंधित ड्रग्स बनाता, अपने पास रखता, बेचता, खरीदता या इस्तेमाल करते पाया जाता है। सेक्शन 29: साजिश रचने और किसी को ड्रग्स लेने के लिए उकसाने के दोषी पाए जाने पर भी सजा का प्रावधान है। सेक्शन 22: ड्रग्स की कम क्वालिटी के लिए एक साल, ज्यादा क्वालिटी के केस में 10 साल और कमर्शियल क्वालिटी के लिए 20 साल तक की सजा दी जा सकती है। सेक्शन 27A: प्रतिबंधित ड्रग्स से जुड़े एक्टिविटी को बढ़ावा देने या इसमें मदद करने के लिए कम से कम 10 साल की और अधिकतम 20 साल की सजा का प्रावधान। कोर्ट चाहे तो 2 लाख रुपए से ज्यादा का जुर्माना भी वसूल सकती है।

#deepika #mumbai #ncb #cbi #arrest #sushantsingh #riya #latestnews #newskinews

208 views

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

Haryana, India

© 2023 by TheHours. Proudly created with Wix.com