• न्यूज की न्यूज डेस्क.

बिना बच्चों के खुले प्रदेशभर में खुले निजी व सरकारी कॉलेज

प्रदेशभर में मंगलवार से कॉलेज खुल गए। अभी टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ ही कॉलेज में आया है। स्टूडेंट को कॉलेज आने की अनुमति नहीं दी गई है।

नई कक्षाओं के लिए दाखिला प्रक्रिया के लिए उच्च शिक्षा निदेशालय ने अभी कोई प्रॉपर गाइडलाइन नहीं जारी की है। शिक्षा निदेशालय ने निर्देश दिए हैं कि इस तरह से पाठयक्रम शुरू किया जाए कि नवंबर तक ऑनलाइन प्रणाली के माध्यम से 70 प्रतिशत पाठयक्रम पूरा कर लिया जाए। 30 प्रतिशत पाठयक्रम को पेंडिंग छोड़ दिया जाएगा और इसे उस समय पूरा किया जाएगा जब स्टूडेंट कॉलेज में आने लगेंगे और पहले की तरह कॉलेजों में पढ़ाई होने लगेगी।

फाइनल ईयर की परीक्षाओं को लेकर भी अभी असमंजस बरकरार है। फिलहाल कोई नए निर्देश सरकारी ने जारी नहीं किए गए हैं। फर्स्ट और सेकेंड ईयर के स्टूडेंट को बिना परीक्षा के अगली क्लास में प्रमोट कर दिया गया था लेकिन फाइनल ईयर के स्टूडेंट के लिए अभी कोई आदेश जारी नहीं किया गया है। यूजीसी ने सितंबर तक परीक्षाएं आयोजित करने के निर्देश दिए थे। लेकिन सरकार इस पर कोई फैसला नहीं ले सकी हैं।

नया सत्र तो शुरू हो गया है लेकिन इस बार कॉलेजों में फीस बढ़ोतरी नहीं होगी। कॉलेजों को पिछले साल की पुरानी फीस के हिसाब से स्टूडेंट के दाखिले होगे।

6 views