• न्यूज की न्यूज डेस्क.

क्यों डरी हुई है हरियाणा की गठबंधन सरकार, सीएम अचानक बुलाई पूर्व विधायकों की मीटिंग

हरियाणा की गठबंधन सरकार पिछले कुछ समय से काफी घबराई हुई लग रही है। कभी दोनों पार्टियां आपस में तालमेल के लिए मीटिंग कर रहे हैं तो कभी अपने विधायकों की नाराजगी दूर करने के लिए। इसी कड़ी में अब सीएम मनोहर लाल ने अपने कई पूर्व विधायकों की अचानक एक मीटिंग बुलाई है। इस मीटिंग को बुलाने का बड़ा कारण है।

दरअसल, भाजपा में शामिल के कुछ पूर्व विधायक मिलकर एक नया गुट बना रहे हैं। पिछले दिनों पूर्व विधायक परमिंदर ढुल, पूर्व CPS रामपाल माजरा, पूर्व विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया, पूर्व विधायक बूटा सिंह, पूर्व CPS श्याम सिंह राणा समेत कई पूर्व विधायकों ने गुप्त बैठक की थी। कहा जा रहा है कि सरकार और पार्टी में अनदेखी से ये सभी पूर्व विधायक नाराज चल रहे हैं। गठबंधन सरकार की कार्यशैली से भी कई पूर्व विधायक असंतुष्ट हैं। इन पूर्व विधायकों का कृषि अध्यादेशों पर भी सरकार से अलग स्टैंड है। इसलिए इन पूर्व विधायकों ने गुप्त बैठक करके भविष्य की रणनीति पर चर्चा की थी।  सूत्रों का कहना है कि विभिन्न पार्टियों से भाजपा में आकर शामिल हुए और खुद भाजपा के ही कई पूर्व विधायक पार्टी से इतने असंतुष्ट हैं कि वो भाजपा छोड़ने तक का मन बना चुके हैं। इतना ही नहीं पूर्व विधायक शाम सिंह राणा ने तो किसानों के समर्थन में भाजपा से अपना इस्तीफा दे भी दिया है, इसलिए सीएम मनोहर लाल को इस बात की जैसे ही सुचना मिली तो उन्होंने तुरंत इन सभी विधायकों की चंडीगढ़ में मीटिंग बुला ली है। जिससे की इनको मनाया जा सके। सूत्रों का तो ये तक कहना है कि भाजपा अपने पूर्व विधायकों मनाए रखने के लिए इनमें से दो से तीन को चेयरमैन आदि का पद भी दे सकती है। क्योंकि इनमें से कई को चुनाव के समय टिकट भी नहीं मिली थी और इन्हें चेयरमैन पद देने की बात कह कर ही उस समय मनाया गया था। ऐसे में हो सकता है कि इनमें से दो से तीन की किश्मत जल्द ही खुल जाए और उन्हें सरकार में अच्छी जिम्मेदारी मिल जाए।

#manoharlaal #cm #haryanacm #haryana #mla #exmla #meeting #haryananews #politicalnews #latestnews #newskinews

225 views