• न्यूज की न्यूज डेस्क.

कोरोना के दौर में अनिल विज ने हरियाणा के लोगों को क्या दी खुशखबरी

कोरोना का कहर न केवल देश में बल्कि हरियाणा में भी बढ़ता जा रहा है। लेकिन इस बीच में हरियाणा के गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल ने प्रदेश के लोगों को खुश करने वाली एक खबर बताई है।

अनिल विज ने बताया है कि हरियाणा में प्रत्येक 100 में से 8 लोग कोरोना संक्रमित हुए और अब खुद ही इस बीमार से उबर भी चुके हैं। दिल्ली से सटे फरीदाबाद का हाल हरियाणा के शहरों में सबसे चिंताजनक रहा है। राज्य में सरकार द्वारा अगस्त में कराए गए सिरो प्रीवलेंस सर्वे कराया गया था। इस सर्वे का परिणाम हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने शुक्रवार को सार्वजनिक किया है। उन्होंने बताया है कि सर्वे से पता चला है कि ग्रामीण क्षेत्रों की तुलना में शहरी क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के अधिक मामले पाए गए हैं। शहरी क्षेत्रों में सिरो पॉजिटिविटी 9.6 प्रतिशत रही है, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में यह 6.9 प्रतिशत रही है। एनसीआर में आने वाले हरियाणा के शहरों में ग्रामीण इलाकों की तुलना में सिरो पॉजिटिविटी अधिक रही। फरीदाबाद 25.8 प्रतिशत के साथ सबसे आगे रहा।

जिले में 31.1 प्रतिशत का आंकड़ा शहरी इलाके में रहा, जबकि ग्रामीण इलाके का आंकड़ा 22.2 प्रतिशत रहा। इसी तरह दिल्ली से सटे गुरुग्राम में यह आंकड़ा 10.8 फीसदी रहा।

यहां शहरी इलाकों में यह आंकड़ा 18.5 रहा, जबकि ग्रामीण इलाकों में 5.7 फीसदी रहा।

सबसे कम कोरोना मामलों वाले शहरों में पानीपत, पलवल, पंचकूला, झज्जर और अंबाला रहे। सर्वे के दौरान हर जिले से 850 लोगों के सैम्पल लिए गए।

एनसीआर जिलों में सेरो-पॉजिटिविटी अधिक पाई गई है जैसे फरीदाबाद में 25.8 प्रतिशत, नूंह में 20.3 प्रतिशत, सोनीपत में 13.3 प्रतिशत, गुरुग्राम में 10.8 प्रतिशत रही है।

इसी प्रकार यह दर करनाल में 12.2 प्रतिशत (शहरी क्षेत्रों में 17.6 प्रतिशत व ग्रमीण क्षेत्रों में 8.8 प्रतिशत) जींद में 11 प्रतिशत, कुरुक्षेत्र में 8.7 प्रतिशत, चरखी दादरी में 8.3 प्रतिशत और यमुनानगर में 8.3 प्रतिशत (शहरी क्षेत्रों में 5.9 प्रतिशत व ग्रमीण क्षेत्रों में 9.9 प्रतिशत) रही।

जिन जिलों में सेरो-पॉजीटिविटी दर राज्य की औसतन दर से कम पाई गई है उनमें पानीपत में 7.4 प्रतिशत (शहरी क्षेत्रों में 7.8 प्रतिशत व ग्रमीण क्षेत्रों में 7.2 प्रतिशत), पलवल में 7.4 प्रतिशत, पंचकुला में 6.5 प्रतिशत (शहरी क्षेत्रों में 3.7 प्रतिशत व ग्रमीण क्षेत्रों में 8.5 प्रतिशत), झज्जर में 5.9 प्रतिशत, अंबाला में 5.2 प्रतिशत (शहरी क्षेत्रों में 7.1 प्रतिशत व ग्रमीण क्षेत्रों में 4.4 प्रतिशत), रेवाड़ी में 4.9 प्रतिशत, सिरसा में 3.6 प्रतिशत, हिसार में 3.4 प्रतिशत (शहरी क्षेत्रों में 2.3 प्रतिशत व ग्रमीण क्षेत्रों में 4.4 प्रतिशत), फतेहाबाद में 3.3 प्रतिशत, भिवानी में 3.2 प्रतिशत, महेंद्रगढ़ में 2.8 प्रतिशत तथा कैथल में 1.7 प्रतिशत रही। #anilvij #homeminister #healthminister #corona #covid #coronanews #covidnews #cero #haryana #haryananews #latestnews #newskinews


607 views