• न्यूज की न्यूज डेस्क.

एक और पूर्व विधायक ने छोड़ी भाजपा, क्या बरोदा उपचुनाव पर पड़ेगा इसका असर?

जब से कृषि बिल आए हैं हरियाणा में भाजपा के साथ कुछ भी ठीक नहीं हो रहा है। लगातार नेताओं की नाराजगी है और पार्टी छोड़ रहे हैं, इसी कड़ी में मंगलवार को भाजपा के एक ओर पूर्व विधायक ने पार्टी छोड़ दी। 

पूर्व विधायक और जुलना से भाजपा की तरफ से चुनाव लड़ने वाले नेता परमिंद्र ढुल ने पार्टी को अलविदा कह दिया है। उन्होंने किसानों के तीन कृषि बिलो के विरोध में यह इस्तीफा दिया है। उन्होंने केंद्र के तीनों कृषि कानूनों को काले कानून बताया है और कहा कि किसानों को पूंजीपतियों के हाथ मे सौपने की तैयारी है। उन्होंने बीजेपी और जेजेपी पर वायदा खिलाफ के आरोप भी लगाए हैं। कहा कि 2020 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का बीजेपी का वायदा झूठा है। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि क्या इस तरह नेताओं के पार्टी छोड़ने का बरोदा उपचुनाव में भाजपा पर कोई असर पड़ेगा।

उन्होंने पार्टी छोड़ते हुए कहा कि आज दीनबंधु सर छोटू राम की आत्मा भी दुखी होगी क्योंकि आज किसान पुत्र रो रहा है। बीजेपी में घुटन महसूस कर रहा हूं, इसलिए पार्टी छोड़ रहा हूं। उन्होंने सभी पार्टियों में शामिल किसान पुत्रो को किसान के हित मे आने का आह्वान किया। पार्टियों को छोड़कर आज किसान के साथ खड़े होने का वक्त। अब आगामी लड़ाई किसानों के साथ मिलकर लड़ेंगे। किसी अन्य पार्टी में जाने के सवाल पर कहा। आज मैं किसान के साथ खड़ा हूं और अभी कही जाने का फैसला नही। बीजेपी ने किसानो के मुद्दे पर जुमलों पर बात की है। बीजेपी को चौथा कानून लाना चाहिए था जिसमे MSP का कानून शामिल होना चाहिए। #julana #parmenderdhual #jind #haryana #bjpexmla #haryananews #latestnews #politicalnews #farmer #bjp #bjpharyana