top of page
  • न्यूज की न्यूज डेस्क.

हरियाणा में फिर फंसा भाजपा विधायक, लगे बड़े आरोप, जानिए क्या हैं?

हरियाणा सरकार की दिक्कतें कम होने का नाम नहीं ले रही। कभी सरकार को लेकर लोगों की नाराजगी तो कभी विधायकों पर आरोप। एक दिन पहले ही कैथल के भाजपा विधायक लीलाराम पर जहां सीएमओ को गलत तरीके से सस्पेंड करवाने के आरोप लगे थे वहीं एक बार फिर से उन पर बड़े आरोप लगे हैं। 

विधायक लीलाराम से जुड़ा एक और नया मामला सामने आया है। जिसमें राजनीतिक द्वेष से सरकारी स्कूल गांव मलिकपुर के मौलिक मुख्याध्यापक सतबीर गोयत की ट्रांसफर करवाने की बात कही गई है। आरोप है कि पीटीआई के समर्थन में सतबीर गोयत ने यूनियन के साथ मिलकर विधायक लीलाराम के खिलाफ नारेबाजी की थी। नारे लगाना विधायक के करीबियों को इतना बुरा लगा कि उन्होंने पंचायत से रेजुलेशन डलवाकर समय से पहले ट्रांसफर करवा दी। शिक्षक की ट्रांसफर के विरोध में मंगलवार को मलिकपुर के ग्रामीणों ने सरकारी स्कूल पर ताला जड़ दिया। दूसरे तरफ कर्मचारी संगठनों ने प्रदर्शन व नारेबाजी के बाद पिहोवा चौक पर विधायक और शिक्षामंत्री कंवरपाल गुर्जर के पुतले फूंके। विधायक कह रहे हैं कि मुझे मुद्दे का नहीं पता, जबकि इस मामले में दो बार शिष्टमंडल विधायक से मिल चुका है। वहीं विधायक लीलाराम गुर्जर की जिस शिकायत पर बिना जांच सिविल सर्जन को स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सस्पेंड किया था उसमें अब वो नरम पड़ गए हैं। हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसिज एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल की चंडीगढ़ में अनिल विज के साथ मीटिंग हुई। मंत्री ने एसोसिएशन को आश्वासन दिया कि सिविल सर्जन को जल्द ही बहाल कर दिया जाएगा। कैथल विधायक लीलाराम का कहना है कि मुझे शिक्षक के ट्रांसफर वाले मैटर का ही नहीं पता है। मेरे को मलिकपुर के किसी आदमी ने ट्रांसफर के लिए भी नहीं बोला। अब ट्रांसफर के चक्कर में राजनीति हो रही है।

#leelaram #mla #kaithal #kaithalmla #bjpmla #bjp #bjpharyana #haryana #manohargovt #haryananews #anilvij #homeninister #latestnews #newskinews



53 views
bottom of page