• न्यूज की न्यूज डेस्क.

किसने कहा कि हुड्डा और खट्टर में हिम्मत नहीं है बरोदा से चुनाव लड़ने की?

नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंग हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव लडले की जो चुनौती दे रहे हैं वो सब के ड्रामा है और इस प्रदेश में दो व्यक्ति ऐसे हैं जो प्रैसकांफ्रेंस करके ही बरोदा उपचुनाव लड़ रहे हैं। यह बात इनेलो नेता और विधायक अभय चौटाला ने कही।

अभय चौटाला ने कहा कि भूपेंद्र हुड्डा और मनोहर लाल में बरोदा से चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं है। मैं तो कहता हूं कि भूपेंद्र हुड्डा और मुख्यमंत्री चुनौती देने की बजाय चुनाव लड़ लें ताकि दोनों को अंदाजा लग जाए कि वो कहां खड़े हैं। उन्होंने कहा कि बरोदा हलके में 54 गांव हैं और वो इन सभी गांवों का दौरा कर चुके हैं लेकिन ना तो हुड्डा और न ही मुख्यमंत्री एक भी गांव में अब तक गए हैं। हुड्डा और खट्टर की हिम्मत नहीं है कि बरोदा के लोगों का सामना कर सकें क्योंकि हुड्डा ने अपने दस साल के शासन में कोई काम नहीं किया व हलके के लोगों की अनदेखी की। वहीं, भाजपा की हालत ऐसी है कि बरोदा तो छोड़ो वो प्रदेश के किसी भी गांव में जाकर अपना कार्यक्रम नहीं कर सकते क्योंकि उन्होंने जो तीन काले कृषि कानून बनाए हैं वो किसानों के खिलाफ हैं। किसानों में उसको लेकर बहुत गुस्सा है और लोग तब तक इसका विरोध करेंगे जब तक इनमें संशोधन नहीं हो जाता। उम्मीदवार की घोषणा पर उन्होंने कहा कि वो बुधवार 14 अक्तूबर को अपने उम्मीदवार की घोषणा कर देंगे और पार्टी उसको अपना उम्मीदवार बनाएगी जिसने पार्टी को मजबूत करने का काम किया है इसलिए हमारा हर एक कार्यकर्ता अपने आप में उम्मीदवार होगा। किसानों के धरने पर जवाब देते हुए कहा कि जहां भी भाजपा और जजपा के विधायक हैं और जो कहते हैं कि वो किसान के घर पैदा हुए हैं उन लोगों को विरोध का सामना करना पड़ेगा। अगर वो किसानों के हितैषी हैं तो फिर पुलिस बल का इस्तेमाल करके लोगों में भय पैदा करने के बजाय उनको किसानों के साथ आकर खड़ा होना पड़ेगा।

#abhaychoutala #inld #inelo #bjp #bjpharyana #congress #congressharyana #manoharlal #cm #haryanacm #bhupenderhooda #excm #latestnews #haryana #haryananews #newskinews