• न्यूज की न्यूज डेस्क.

अभय चौटाला ने क्यों कहा कि सरकार ने विधानसभा को मछली बाजार बना दिया?

इनेलो के प्रधान महासचिव और विधायक चौधरी अभय चौटाला ने कहा कि विधानसभा को सरकार ने मछली बाजार बना दिया है। लॉकडाउन में 9 बड़े घोटाले किए गए लेकिन आज तक सरकार द्वारा इस पर कोई जवाब नहीं आया। एक हाथ से घोटाले किए और दूसरे हाथ से क्लीन चिट दे दी गई।

उन्होंने कहा कि हमने 12 ध्यानाकर्षण प्रस्ताव दिए थे जिसमें से दो को मंजूरी दी गई और कांग्रेस की श्रीमती किरण चौधरी की तरफ से एक ध्यानाकर्षण प्रस्ताव दिया गया था लेकिन वह स्वयं सदन में उपस्थित नहीं थी। इससे पता चलता है कि सरकार और मुख्य विपक्षी दल प्रदेश की जनता की समस्याओं के प्रति कितना गंभीर है। पहले तीन दिन का विधानसभा सत्र रखा गया था फिर इसे दो दिन का कर दिया और आज एक दिन में ही समेट दिया। आज न तो कोई शून्यकाल था और न ही प्रश्नकाल पर कोई चर्चा थी। सरकार की मंशा कोरोना की आड़ में कुछ ऐसे बिल पास करने की थी जिससे वो अपनी पीठ थपथपा सके। डिप्टी स्पीकर ने कहा कि जो लिख कर दिया गया है उसे ही आपका जवाब मान लिया गया है, जबकि मैं डिप्टी स्पीकर के इस जवाब से सहमत नहीं था। आज डिप्टी स्पीकर की भूमिका दयनीय व निंदनीय थी। उन्होंने कहा कि हैरानी की बात है कि कोविड-19 के नाम पर मुख्यमंत्री ने स्कूल वालों से पैसे लिए, किसान से पांच-पांच किलो गेहूं मांगी, एक-एक रुपया प्रति बोरी गेहूं, चने व सरसों में लिए, उद्योगपतियों से पैसे लिए, स्कूल संचालकों से पैसे लिए गए। इसके अलावा जितने सरपंच थे, सभी से पैसे लिए गए। सरपंचों और पंचों का एक-एक माह का वेतन ले लिया गया।

सरकारी कर्मचारियों की तनख्वाह से 30 प्रतिशत से अधिक वेतन काट लिया। एक भी जगह ऐसी नहीं है जहां पर कोरोना के लिए सरकार ने हजारों करोड़ रुपए खर्च किए हों। इनके पास पीपीई किट्स, मास्क, हाथ में पहनने वाले गलव्स व सेनेटाइजर भी नहीं थे। इनके पास गरीब आदमी को देने के लिए राशन तक नहीं था, वो भी समाज सेवकों ने उपलब्ध करवाया था। इन्होंने एक काम किया कि कोरोना की आड़ में फर्जी बिल बनवाए और हजारों करोड़ रुपए अपनी जेब में डाल लीए। कैसे इस प्रदेश को लूटा व बर्बाद किया जाए, इसके लिए इन्होंने सारे हथकंडे अपनाने का काम किया है।

#inld #inelo #abhay #abhaychoutala #politicalnews #latestnews #haryananews #assembly #newskinews

95 views