हिसार में कई दिनों से कोरोना मरीजों का आंकड़ा 100 के उपर ही चल रहा है। इसलिए स्वास्थ्य विभाग की टीम बिना मास्क पहनने वालों के सैंपल लेने का अभियान चला रही है।

हिसार में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने फव्वारा चौक पर 69 लोगों के सैंपल लिए। इस दौरान एक ऐसा मामला सामने आया जहां दुल्‍हन को लेने कार में बैठ जा रहे दूल्‍हे ने मास्‍क नहीं लगाया था। पुलिस ने देखा तो दूल्‍हे ने मुंह पर रुमाल रख लिया। मगर पुलिस नहीं मानी और दूल्हे को कार से नीचे उतार कर उसका का भी सैंपल लिया गया। बीते शनिवार को हिसार में कोरोना के 139 मामले सामने आए, वहीं 103 मरीज ठीक भी हुए। साथ ही कोरोना से चार की मौत भी हुई। जिले में अब कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 8910 हो गई है। जिनमें से 7667 मरीज स्वस्थ भी हो गए हैं।

कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 86.05 फीसद पर पहुंचता नजर आ रहा है। वहीं मरने वालों की संख्या बढ़कर 118 हो गई है।

जिले में मास्क न पहनने वालों लोगों के सैंपल लगातार करवाए जा रहे हैं। साथ ही उन्हें मास्क पहनने के लिए जागरूक किया जा रहा है। इसके अलावा शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए कहा जा रहा है।

#hisar #groom #corona #covid #haelth #haryana #healthnews #haryananews #latestnews #newskinews #coronanews


कुछ दिन पहले ही जुलाना से पूर्व विधायक परमिंद्र ढुल ने भाजपा को अलविदा कहा था। अब वो जल्द ही कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। उनकी मुलाकात बंद कमरे में पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा से हुई है।

अब कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही वो औपचारिक रुप से पार्टी में शामिल हो सकते हैं। इससे पहले चर्चाएं थी कि वो आज पार्टी में कांग्रेस में शामिल होंगे। पूर्व विधायक परमिंद्र ढुल ने किसान कानूनों के विरोध में भाजपा को अलविदा कहा है। उन्होंने कहा कि किसानों के हित से ऊपर कुछ नहीं है। इसलिए भाजपा को छोड़ रहे हैं। 2019 के विधानसभा चुनाव से पहले परमिंद्र ढुल इनेलो को छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। परमिंद्र ढुल जुलाना हलके से प्रतिनिधित्व करते रहे हैं। वो इनेलो की टिकट पर विधायक चुने गए थे। परमिंद्र ढुल 2009 और 2014 में इनेलो की टिकट पर चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। परविंद्र ढुल के पिता दल सिंह ढुल भी चार बार जींद और दो बार जुलाना के विधायक रहे हैं। 2019 के विधानसभा चुनाव में भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी ने टिकट दिया था लेकिन यहां पर जेेजेपी के अमरजीत ढांडा ने परमिंद्र ढुल को हरा दिया था।

शनिवार रात को कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा बरोदा हल्के के अपने कार्यक्रमों को छोडकर जुलना स्थित परमिन्द्र ढुल के आवास पर पहुंचे। जहां दोनों की बंद कमरे में बैठक हुई।

#parminderdhul #bhupenderhooda #hooda #congress #bjp #julana #jind #politicalnews #latestnews #newskinews #haryana #haryananews

बरोदा उपचुनाव में प्रचार अब तेजी पकड़ता जा रहा है और सभी नेता एक-दूसरे पर जमकर जुबानी वार कर रहे हैं। कृषि से जुड़े तीन अध्यादेश आने के बाद सत्ता पक्ष और विपक्ष किसानों के बीच जाकर अपना-अपना पक्ष रख रहे हैं। विपक्ष जहां पर अध्यादेशों को किसान विरोधी बता रहा है तो सत्तापक्ष विपक्ष पर अध्यादेश को लेकर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगा रहा है। जानिए बड़े नेता प्रचार के दौरान क्या-क्या कह रहे हैं।

कंगाल हुआ किसान : चौटाला

इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने बरोदा हलका के गांवों का दौरा किया और कहा कि आज किसान बेहाल है। मंडी में धान और अन्य फसलों से भरी हुई हैं। किसानों की फसल एमएसपी रेट नहीं खरीदी जा रही है। जो फसल खरीद ली जाती है, उसका समय पर भुगतान नहीं होता। किसान की कोई सुनने वाला नहीं हैं। वहीं, भाजपा सरकार ने कृषि से जुड़े तीन अध्यादेश भी लागू कर दिए। जो किसान हित में नहीं है। कृषि से जुड़े तीन अध्यादेश किसानों के हित में नहीं है। इससे किसानों को एमएसपी नहीं मिलेगा। किसान विरोध भी कर रहा है, लेकिन उसकी कोई नहीं सुनता। सरकार की नीतियों के चलते किसान कंगाल होता जा रहा है।

किसान की किस्मत बदलेगी : धनखड़ भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि तीनों अध्यादेशों से प्रदेश का किसान और अधिक खुशहाल व उन्नत होगा। किसान अपनी मर्जी से अपनी फसल बेच सकेगा। किसान पर किसी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं होगी। अध्यादेशों में किसानों को अपनी फसल बिक्री के लिए छूट दी गई है और एमएसपी खत्म नहीं होगा व अनुबंध खेती में ई- रजिस्ट्री में सारा लेखा-जोखा होगा। इससे किसानों की किस्मत बदलेगी।

घोटालों की सरकार : दीपेंद्र कांग्रेस के राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि गठबंधन सरकार के कार्यकाल में एक के बाद एक कई घोटाले हुए हैं। बरोदा हलका की जनता स्वाभिमानी है। इसलिए ऐसी सरकार में साझा नहीं करेगी। भाजपा सरकार ने पहले किसान विरोधी तीन अध्यादेश लागू किए। इसका विरोध किया तो उन पर लाठियां बरसाने का कार्य किया। कांग्रेस सरकार ने अपने दस साल के कार्यकाल में क्षेत्र का भी विकास कराया। लाठ-जौली में आईएमटी बनाने की योजना थी। इसके लिए जमीन भी अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दी थी। परंतु भाजपा ने सत्ता में आने के बाद इस प्रोजेक्ट को रद्द कर दिया।

#baroda #brodaelection #barodanews #electionnews #latestnews #opchautala #opdhankad #deependerhooda #bjp #jjp #indl #congress #newskinews #haryana #haryananews

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

Haryana, India

© 2023 by TheHours. Proudly created with Wix.com